दो साल के बाद फिर से शुरू हो रही है अमरनाथ यात्रा, सफर से पहले जान लें ये जरूरी बातें


दो साल बाद अमरनाथ यात्रा श्रद्धालुओं के लिए दोबारा से खोल दी गई है. इसका पंजीकरण 11 अप्रैल यानी आज से होगा. बता दें कि कोराना महामारी की वजह से पिछले दो साल अमरनाथ यात्रा को बंद किया गया था. इस बार 43 दिन की इस अमरनाथ यात्रा 30 जून से लेकर 11 अगस्‍त तक चलेगी. ऐसे में श्रद्धालुओं में खासा उत्‍साह नजर आ रहा है. जानकारी दे दें कि यह एक दुर्गम और कठिन चढ़ाई वाली धार्मिक यात्रा है जिसमें यात्रा के दौरान कई तरह की परेशानियों और कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है.

ऐसे में अगर आप पहले से सभी जरूरी जानकारियां नहीं जान लेते और इंतजाम नहीं नहीं कर लेते हैं तो आपको समस्‍याएं हो सकती हैं. तो आइए आज हम आपको बता रहे हैं कि आप अमरनाथ यात्रा से पहले किन जानकारियों को हासिल करना् जरूरी और उनकी तैयारियां पहले से कर लें.

यात्रा कब से कब तक
श्री अमरनाथ यात्रा इस बार 30 जून से शुरू होगी और 11 अगस्त तक चलेगी. 43 दिन की इस यात्रा के लिए लोगों में खासा उत्साह देखा जा रहा है. अधिकारियों ने जानकारी दी है कि इस साल यात्रा में छह लाख से ज्यादा श्रद्धालु पहुंच सकते हैं.

पंजीकरण का तरीका
पंजीकरण देशभर के पंजाब नेशनल बैंक, जेके बैंक और यस बैंक के 446 शाखाओं में अग्रिम यात्री पंजीकरण कराया जा सकेगा. इसके अलावा इच्छुक शिवभक्त श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड की वेबसाइट पर जाकर भी पंजीकरण करवा सकते हैं. एप्लीकेशन फॉर्म के साथ हेल्थ सर्टिफिकेट, चार पासपोर्ट साइज फोटो की जरूरत रजिस्ट्रेशन में पड़ेगी. बता दें कि पिछले साल रजिस्ट्रेशन फीस 150 रुपये थी.

इसे भी पढ़ेंः ये हैं North-East इंडिया की 5 खूबसूरत जगहें, नहीं देखे होंगे ऐसे खूबसूरत नजारे

रोजाना यात्रियों की संख्‍या
श्री अमरनाथ यात्रा पहलगाम और बालटाल दोनों मार्गों से शुरू होगी. जिसमें 1000 श्रद्धालुओं को रोजाना यात्रा के लिए रवाना किया जाएगा. बता दें किं हेलिकॉप्टर से पहुंचने वाले श्रद्धालु अलग होंगे. इसके अलावा श्राइन बोर्ड बालटाल से दोमेल तक 2.75 किलोमीटर यात्रा में निशुल्क बैटरी कार सेवा भी मुहैया करवाएगा.

इन लोगों को नहीं मिलेगी परमिश
6 सप्ताह से अधिक गर्भवती महिलाएं, 13 साल से कम उम्र के बच्चों और 75 साल से अधिक उम्र के बुजुर्गों को अमरनाथ यात्रा की अनुमति नहीं दी जाएगी.

पैरों में क्‍या पहनें
इस पवित्र गुफा की यात्रा में पैरों में चप्‍पल नहीं पहनते है, केवल फीते वाले ट्रेकिंग शूज पहन सकते हैं. श्राइन बोर्ड की ओर से सलाह दी जाती है कि रूट पर कोई शॉर्टकट न अपनाएं.

प्‍लास्टिक प्रतिबंधित
यात्रा के दौरान किसी भी तरह से प्रदूषण और गंदगी फैलाने की सख्‍त मनाही है. इसके अलावा इस एरिया में प्‍लास्टिक का इस्तेमाल पूरी तरह से प्रतिबंधित है.

उम्र सीमा
अमरनाथ यात्रा के दौरान 5 से कम उम्र के बच्‍चों और पचास से कम आयु के व्यक्ति समूह पंजीकरण के लिए भी आवेदन कर सकते हैं.

इन ऐप का करें प्रयोग
अमरनाथ यात्रा, वहां का मौसम और तमाम तरह की सेवाएं ऑनलाइन प्राप्त करने के बारे में श्रद्धालु प्ले स्टोर से ‘श्री अमरनाथजी यात्रा’ ऐप डाउनलोड कर सकते हैं.

दिल्ली से इस तरह पहुंचें यहां
दिल्ली-एनसीआर के लोग दिल्ली एयरपोर्ट से श्रीनगर तक हवाई जहाज से यहां जा सकते हैं. वहां से अमरनाथ मंदिर के लिए आगे का रास्ता तय कर सकते हैं. अगर ट्रेन की बात करें तो अमरनाथ गुफा के करीब स्थित रेलवे स्टेशन- उधमपुर और जम्मू स्टेशन हैं जो पहलगाम और बालटाल से 219 किमी और 255 किमी की दूरी पर हैं. आप हेलिकॉप्टर से भी अमरनाथ गुफा तक पहुंच सकते हैं. गुफा से करीब 6 किमी की दूरी पर पंजतरणी हेलीपैड तक हेलिकॉप्टर से पहुंचा जा सकता है.

पहलगाम से पवित्र गुफा का सफर
-पहलगाम से 16 किमी दूर 9500 फीट ऊंचाई पर यह एक घाटी है जहां जलपान, विश्राम के बाद मुश्किल मानी जाने वाली चढ़ाई पिस्सू घाटी की ओर शुरू होती है.
-चंदनवाड़ी से 13 किमी दूर शेषनाग नामक जगह है जहां टेंटों की बस्ती में विश्राम के बाद आगे का सफर शुरू होता है.
-यात्रा का दूसरा दुर्गम चरण 13 किमी दूर पंजतरणी के लिए शुरू होता है.
-महागुनस चोटी की तरफ चढ़ाई काफी मुश्किल होती है.
-14800 फीट की ऊंचाई पर ऑक्सीजन की कमी के कारण सांस फूलने लगती है. हालांकि बीच-बीच में डॉक्टर्स की मदद ली जा सकती है.
-पंजतरणी में विश्राम और स्नान के बाद 6 किमी की दूरी तय कर श्रद्धालु गुफा तक पहुंचते हैं.

इसे भी पढ़ेंः Low Budget Trip In India: भारत की इन जगहों पर 15 हजार रुपए में करें Tour, यादों को कैमरे में करें कैद

यात्रा के लिए जरूरी टिप्स
-यात्रा करने से पहले आप अपनी फिजिकल फिटनेस पर ध्यान दें और रोज 4-5 किमी सुबह/शाम टहलें.
-शरीर में ऑक्सीजन की पर्याप्त मात्रा के लिए प्राणायाम करना जरूरी है.
-अपने डॉक्टर से जरूर चेकअप करा लें.
– चढ़ाई पर धीरे-धीरे चलने का अभ्यास करें.
– डिहाइड्रेशन और सिरदर्द से बचने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पीने की आदत डालें.
– श्राइन बोर्ड की वेबसाइट shriamarnathjishrine.com पर उपलब्ध फूड मेन्यू का चेक करें और पालन करें.
– लो ब्लड शुगर लेवल से बचने के लिए पर्याप्त मात्रा में कार्बोहाइड्रेट का सेवन करें.
– अगर सांस लेने में दिक्कत हो रही है तो बेहतर होगा कि आप पोर्टेबल ऑक्सीजन लेकर जाएं.
-यात्रा से पहले श्राइब बोर्ड की वेबसाइट पर उपलब्‍ध सारी जानकारियों को जरूर पढ़ लें.

Tags: Amarnath Yatra, Lifestyle, Travel

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllwNews