Happy Holi 2022: भारत ही नहीं, दुनिया के इन 8 देशों में भी मनाई जाती है कुछ अलग तरह की ‘होली’


Holi 2022: हर साल फाल्गुन महीने की पूर्णिमा (Purnima) तिथि पर भारत (India) के हर कोने में होली का पर्व मनाया जाता है. इस साल 18 मार्च को होली का त्योहार मनाया जाएगा. इससे एक दिन पहले यानी 17 मार्च की रात को होलिका दहन किया जाता है. होली के दिन लोग एक दूसरे पर रंग (Colours) लगाते हैं और सारे गिले शिकवे भूलकर एक दूसरे के गले मिलते हैं. हालांकि दुनियाभर में कोरोना संक्रमण के मामलों को देखते हुए होली को साधारण तरीके से मनाने की ही सलाह दी जा रही है लेकिन आपको बता दें कि आम समय में होली देश के लगभग सभी हिस्सों में बड़ी धूम से मनती रही है. रंगों का त्योहार अलग-अलग नामों के साथ विदेशों में भी मनाया जाता है. विदेशों में होली को लेकर अलग मान्यताएं और कहानियां भी हैं. आइए जानते हैं उनके बारे में.

नेपाल
भरात के पड़ोसी देश नेपाल में लगभग वो सारे त्योहार मनाए जाते हैं, जो हमारे यहां मनते हैं. हालांकि होली का यहां अलग ही मिजाज होता है. होली को यहां फागु पुन्हि कहते हैं जो फाल्गुन पूर्णिमा से मिलता-जुलता है. यहां राजतंत्र होने के दौरान महल में एक बांस का स्तंभ गाड़कर त्योहार की शुरुआत होती थी, जो पूरे सप्ताहभर चलता था. पहाड़ी इलाकों में होली भारत की होली से एक दिन पहले मनती है, जबकि तराई की होली भारत के साथ और हम जैसी ही मनती है.

ये भी पढ़ें: Holi 2022: कब है होली और होलिका दहन? जानें सही तारीख और शुभ मुहूर्त

म्यांमार
म्यांमार में होली से मिलता-जुलता त्योहार मेकांग मनाया जाता है. कहीं-कहीं इसे थिंगयान भी कहते हैं. इस दिन लोग एक-दूसरे पर पानी की बौछार करते हैं और मानते हैं कि इससे सारे पाप धुल जाते हैं. बीते कुछ सालों से पानी के अलावा यहां पर रंग से भी खेला जाता है.

मॉरिशस
समुद्री तटों और प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर मॉरिशस में होली बसंत पंचमी से शुरू हो जाती है और लगभग पूरे महीने चलती है. यहां होलिका दहन भी किया जाता है. इस समय यहां आने वाले पर्यटक भी होली के उत्सव का हिस्सा बनते हैं. इसके अलावा कई हिस्सों में पानी की बौछार भी की जाती है.

पोलैंड
पोलैंड में होली के समय अर्सीना नाम का त्योहार मनाया जाता है. यह होली की तरह ही रंगों का उत्सव होता है. यहां पर लोग फूलों के रंग और इत्र से होली खेलते और एक दूसरे के गले मिलते हैं. पोलैंड में भी इस दिन को दुश्मनी भुलाने के पर्व की तरह देखा जाता है.

रोम
रोम में भी होली की तरह एक पर्व है, जिसे रेडिका कहते हैं. हालांकि ये पर्व मई के महीने में मनाया जाता है. रंग खेलने के पहले रात में यहां लकड़ियां जमाकर होलिया दहन भी किया जाता है. इसके बाद अगली सुबह लोग इसी के चारों ओर नाचते हुए रंग खेलते हैं. साथ ही फूलों की बौछार भी की जाती है. हइटली में मान्यता है कि इससे अन्न की देवी फ्लोरा की कृपा होती है और फसलों की अच्छी पैदावार होती है.

अफ्रीका
अफ्रीकी देशों में होलिका दहन जैसी परंपराएं हैं. ऐसी ही एक परंपरा को ओमेना बोंगा कहते हैं. इस दिन आग जलाकर अन्न देवता को याद किया जाता है और रातभर जलती-बुझती आग के चारों ओर लोग नाचते-गाते हैं.

थाईलैंड
थाईलैंड में होली के त्योहार को सांग्क्रान कहते हैं. इस दिन लोग बौद्ध मठों में जाकर वहां से भिक्षुओं से आशीर्वाद लेते हैं और एक-दूसरे पर इत्र वाला पानी डालते हैं.

ये भी पढ़ें: Lathmar Holi 2022: कब है लट्ठमार होली? क्या है इसका इतिहास एवं पौराणिक महत्व

स्पेन
स्पेन के बुनोल शहर में हर साल अगस्त में टोमाटीनो फेस्टिवल मनाया जाता है. इसमें हजारों की संख्या में लोग जमा होकर टमाटर से होली खेलते हैं. हालांकि इस दिन का कोई धार्मिक महत्व नहीं है, तब भी इस टमाटर फेस्टिवल की धूम की तुलना भारत की होली से होती है.

Tags: Holi, Holi celebration, Holi festival, Lifestyle, Travel

Leave a Reply

Your email address will not be published.

AllwNews