Dhar News: प्रदेश में मक्का का रकबा बहुत ज्यादा छोटे किसानों की प्रमुख उपज


Publish Date: | Mon, 13 Sep 2021 09:05 PM (IST)

मनावर (नईदुनिया न्यूज)। खरीफ एवं रबी फसलों की खरीदी में शासन एवं किसानों की परेशानियों को दूर करने के लिए नगर के एक नागरिक और किसान ने मुख्यमंत्री को सुझाव प्रस्तुत करते हुए पत्र लिखे हैं। किसानों ने बताया कि प्रदेश में मक्का का रकबा बहुत ज्यादा है। यह फसल छोटे किसानों की प्रमुख उपज है।

नगर के सेवानिवृत्त गिरदावर बालकृष्ण भार्गव ने मुख्यमंत्री को भेजे पत्र में बताया कि फसलों की खरीदी के लिए शासन किसानों से पंजीयन तो कराती है, लेकिन पंजीयन ऐसे समय किया जाता है, जब खरीदी को कुछ ही समय शेष रहता है जबकि कई किसानों को जानकारी नहीं मिलने के कारण वे पंजीयन कराने से वंचित रह जाते हैं। पत्र में सुझाव दिया गया है कि जैसे ही किसान फसल की बोवनी करते हैं, वैसे ही उसका पंजीयन एक अगस्त से प्रारंभ कर एक सितंबर से शासन खरीदी प्रारंभ कर दें, तो किसानों की फसल कटने लंगेगी। वैसे ही सीधे खेतों से ही फसल खरीदी केंद्र पर पहुंच जाए। इससे किसानों का समय, मजदूरी व वाहनों का किराया भी बच जाएगा। अभा सिर्वी महासभा के जिलाध्यक्ष व किसान टीकम पंवार ने बताया कि भारत सरकार ने कृषि आय को दोगुनी करने के लिए कई योजनाएं लागू की हैं। इनमें किसान की उपज पर समर्थन मूल्य बढाना प्रमुख है। मप्र सरकार ने भी किसानों को समर्थन मूल्य के अतिरिक्त बोनस आदि देकर किसानों के हित में कई निर्णय लिए हैं। पंवार ने बताया कि इस वर्ष समर्थन मूल्य तो घोषित कर दिया है, लेकिन खरीदी के लिए पंजीयन के आदेश जारी नहीं किए गए हैं जबकि प्रदेश में मक्का का रकबा बहुत ज्यादा है। यह फसल छोटे किसानों की प्रमुख उपज है और यही किसान लाभ से वंचित हो रहे हैं। इस ओर मुख्यमंत्री का ध्यान आकर्षित कराया गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *